सनी- बॉबी- श्रेयस की तिकड़ी ने फिल्म में लगाए चार चांद, ऐसी है पोस्टर बॉयज़ का मूवी रिव्यू

नई दिल्लीः निर्देशक अभिनेता श्रेयस तलपड़े की फ़िल्म ‘पोस्टर बॉयज़’ उनकी ही सुपरहिट मराठी फ़िल्म का रीमेक है। इस फिल्म में मुख्य भूमिका जिसे पर्दे पर निभा रहे हैं सनी देओल बॉबी देओल और श्रेयस तलपड़े। कहानी देश के एक गांव की कहानी है। यहां पर माना जाता है कि पुरुषों ने अगर नसबंदी करा ली तो उनकी मर्दानगी खत्म हो जाती है। इन तीनों के फोटोज़ उनकी मर्जी और इजाज़त के बिना ही नसबंदी करवाने वालों में शामिल एक पोस्टर पर आ जाता है। नसबंदी के इस पोस्टर पर तीनों की फोटो आ जाने से उनकी ज़िंदगी में क्या असर होता है, इसी पर आधारित है फ़िल्म ‘पोस्टर बॉयज़’ की कहानी।

AUG-2

कहानी: फिल्म की कहानी जमघेटी नामक गांव पर आधारित है जहां रिटायर्ड अफसर जगावर चौधरी (सनी देओल), स्कूल मास्टर विनय शर्मा (बॉबी देओल) और क्रेडिट कार्ड कंपनी का वसूली करने वाला गुंडा अर्जुन सिंह (श्रेयस तलपड़े) रहते हैं। इन तीनों की फोटो पुरुष नसबंदी का विज्ञापन करने वाले पोस्टर पर गलती से छप जाती है। इस घटना के बाद इन तीनों किरदारों में से एक की शादी टूट जाती है और दूसरे की पहले से तय शादी कैंसल हो जाती है। इसके बाद ये तीनों ही पीड़ित पुरुष इस बात की जांच करने में जुट जाते हैं कि आखिर उनकी तस्वीर पोस्टर पर कैसे छपी। इस दौरान फिल्म में प्रशासन विसंगतियां सामने आती हैं। इस दौरान यह तीनों ही लोग कई परेशानियों में घिर जाते हैं जिसे बड़े ही कॉमिक तरीके से फिल्म में दिखाया गया है।

AUG-1

फिल्म की कहानी एक कसी हुई स्क्रिप्ट है और ये नज़र आता है कि श्रेयस ने काफी मेहनत की है’। ‘पोस्टर बॉयज़’ एक मनोरंजक फ़िल्म है जिसे देखते हुए आप अपने ठहाके रोक नहीं पाएंगे। अभिनय की अगर बात की जाए तो सनी देओल अपने इमेज से बाहर जाकर एक अलग अवतार में नज़र आते हैं, जोकि काफी सफल भी हुए हैं। बॉबी देओल एक अलग अंदाज़ में नज़र आते हैं। श्रेयस एक अभिनेता के तौर पर फ़िल्म को बांधे रखते हैं। कलाकारों की इस तिकड़ी ने दर्शकों पर अपनी पकड़ बना कर रखी है।

jan sangathan

Media/News Company

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com